UTR Number Kya Hota Hai? Full Form, ट्रांजैक्शन ट्रैक करें

जब भी कोई ऑनलाइन एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे ट्रांसफर करता है, तो उसे एक यूनिक ट्रांजैक्शन रेफरेंस नंबर यानी UTR नंबर मिलता है, ताकि वह अपने ट्रांजैक्शन स्टेटस को चेक करसके. 

चाहे आप IMPS ‘इमीडिएट पेमेंट सर्विस’, NEFT ‘नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर’, RTGS ‘रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट’ जैसे पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल करें या फिर आप यूपीआई का इस्तेमाल करें आपको हर ट्रांजैक्शन पर UTR नंबर मिलता है. 

आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे के UTR नंबर क्या होता है, इसका फुल फॉर्म क्या होता है, UTR नंबर को कैसे निकाले और इसके जरिए किसी भी ट्रांजैक्शन स्टेटस को कैसे ट्रैक करें.

UTR नंबर क्या है । UTR Number Kya Hota Hai

जब हम ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते हैं तो हमें UTR नंबर दिया जाता है जो की एक यूनीक नंबर दिया होता है, बैंक के द्वारा ट्रांजैक्शन को आईडेंटिफाई करने के लिए. ट्रांजेक्शन होने पर बैंक UTR नंबर जनरेट करता है जिसमें अल्फाबेट और नंबर्स दोनों होते हैं. इस UTR नंबर/रेफरेंस कोड की मदद से हम किसी विशेष ट्रांजैक्शन को जान सकते हैं और ट्रांजैक्शन स्टेटस को ट्रैक कर सकते हैं. 

अगर आपके ट्रांजैक्शन में कोई गड़बड़ी होती है यानी ट्रांजैक्शन में एक बैंक से पैसे निकल चुके हैं लेकिन दूसरे बैंक में नहीं पहुंचे हैं तो अपने UTR नंबर को बैंक में देकर जानकारी ट्रैक कर सकते हैं. अपनी ट्रांजैक्शन की जानकारी के लिए बैंक से इंक्वारी करते हैं तो आपसे UTR नंबर पूछा जाताहै, UTR नंबर से बैंक आसानी से ट्रांजैक्शन ट्रैक कर सकते हैं.

UTR नंबर का फुल फॉर्म क्या है?

UTR का फुल फॉर्म है यूनिक ट्रांजैक्शन रेफरेंस’. भारत में किए गए हर ट्रांजैक्शनपर यह रेफरेंस नंबर जनरेट होता है, UTR नंबर्स 16 से 22 कैरेक्टर्स लंबे हो सकते हैं.  इसका फार्मेट कुछ इस तरह होता है: BANKRCYYYYMMDDNNNNNNNN

  • Bank = बैंक कोड (जैसे SBIN, ICICI, HDFC) 
  • R = आरटीजीएस (रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट)
  • C = चैनल कोड (उदाहरण: आरटीजीएस के लिए 9)
  • YYYY = एयर कोड (उदाहरण: 2024)
  • MM = मंथ कोड (उदाहरण: दिसंबर के लिए 12)
  • DD = दिन (उदाहरण: 22 के लिए 22nd दिसंबर)
  • NNNNNNNN = 8 डिजि यूनिक ट्रांजैक्शन कोड.

UTR नंबर क्यों जरूरी है?

जब दो बैंक के बीच में पैसे ट्रांसफर होते हैं, बैंक तो बैंक के द्वारा UTR नंबर जनरेट किया जाता है. एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे भेजने के लिए यूपीआई, नेफ्ट या आरटीजीएस पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल कर सकते हैं. UTR नंबर का इस्तेमाल ट्रांजैक्शन को पहचान के लिए और उसे ट्रैक करने के लिए किया जाता है. 

अगर कभी ट्रांजैक्शंस कंप्लीट नहीं होते हैं या अटक जाते हैं तो ट्रांजैक्शन ट्रैक करने के लिए बैंक UTR नंबर का इस्तेमाल करते हैं. 

उदाहरण के लिए अगर आपने किसी को पैसे भेजने पर पैसे आपके बैंक से डिडक्ट हो गया है लेकिन सामने वाले के बैंक अकाउंट में क्रेडिट नहीं हुए हैं, तो बैंक इस प्रॉब्लम को फिक्स करने के लिए और ट्रांजैक्शन स्टेटस ट्रैक करने के लिए UTR नंबर का उपयोग करते हैं. ये UTR नंबर बैंक आपसे मांगता है.

UTR नंबर को कहां इस्तेमाल किया जाता है? 

ट्रांजैक्शन को आसानी से ट्रैक करने के लिए और मैनेज करने के लिए UTR नंबर का इस्तेमाल होता है, UTR नंबर इस्तेमाल करने के प्रमुख कारण है:

● ट्रांजैक्शन ट्रैकिंग:

किसी भी ट्रांजैक्शन को ट्रैक करने के लिए UTR नंबर बहुत मदद करता हैं. UTR नंबर दोनों बैंक और कस्टमर के लिए फायदेमंद है, क्योंकि ट्रांजैक्शन शुरू होने से कंप्लीट होने तक सारा रिकॉर्ड इससे पता चलता है, UTR नंबर से ट्रांजैक्शन को ट्रैक करने पर सही अकाउंट में पैसा ट्रांसफर हुआ है यह सुनिश्चित किया जाता है.

● अकाउंटिंग के लिए:

UTR नंबर्स की मदद से बैंक अपने सारे मॉनेटरी ट्रांजैक्शंस का रिकॉर्ड बनाते हैं. किसी एक विशेष ट्रांजैक्शन को पहचानने के लिए UTR नंबर्स का इस्तेमाल होता है और उस ट्रांजैक्शन में कोई प्रॉब्लम हो तो उसे दूर किया जा सकता है. 

● टैक्स के लिए:

जब हम इन-कम टैक्स रिटर्न फाइल करते हैं तो टैक्स ऑफिशल्स UTR नंबर्स मांगते हैं. इन UTR नंबर्स को ऑफिसर्स आपके द्वारा रिपोर्ट किए गए इनकम को वेरीफाई करने के लिए और ट्रांजैक्शन की एक्यूरेसी जानने के लिए इस्तेमाल करते हैं. 

● पेमेंट्स सबूत के लिए:

UTR नंबर्स पेमेंट प्रूफ की तरह काम आते हैं, जब आप अच्छी खासी पेमेंट करते हैं जैसे प्रॉपर्टी खरीदने के लिए, लोन के लिए या बिजनेस ट्रांजैक्शन आदि, तो UTR नंबर्स को लीगल और फाइनेंशियल डॉक्यूमेंट प्रूफ की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं. 

UTR नंबर कैसे पता करें?

UTR नंबर्स पता लगाने के लिए बहुत सारे अलग-अलग मैथर्ड है, सबसे प्रमुख मैथर्ड जिनका इस्तेमाल करके UTR नंबर चेक कर सकते हैं:

1. बैंक स्टेटमेंट या पासबुक से UTR नंबर पता करें:

UTR नंबर चेक करने का सबसे आसान तरीका है बैंक अकाउंट स्टेटमेंट या पासबुक के जरिए पता लगाना. जब आपका ट्रांजैक्शन शुरू होता है तो बैंक द्वारा रिफरेंस नंबर यानी UTR नंबर जनरेट किया जाता है, बैंक स्टेटमेंट में या पासबुक में आप जिस ट्रांजैक्शन का UTR नंबर चेक करना चाहते हैं, चेक कर सकते हैं. 

2. इंटरनेट बैंकिंग से UTR नंबर पता करें:

  • सबसे पहले अपने नेट बैंकिंग अकाउंट में लॉगिन करें और उसके बाद ‘स्टेटमेंट’ सेक्शन में जाए.
  • अब जिस भी ट्रांजैक्शन का UTR नंबर जानना चाहते हैं, उसे सेलेक्ट करें.
  • उस ट्रांजैक्शन डिटेल में आपको UTR नंबर भी मिल जाएगा.

3.मोबाइल बैंकिंग से UTR नंबर चेक करें:

हर बैंक के मोबाइल एप के स्टेप्स अलग होते हैं लेकिन इन कॉमन स्टेप्स को याद रखें:

  • अपने बैंक एप में लॉगिन करें और अकाउंट डिटेल्स में जाए.
  • अब आप अकाउंट स्टेटमेंट या ट्रांजैक्शन हिस्ट्री की तरफ बड़े.
  • अब जो ट्रांजैक्शन सेलेक्ट करना है उसे सेलेक्ट करें, ट्रांजैक्शन डिटेल में आपको UTR नंबर मिल जाएगा.

4. ईमेल या एसएमएस के जरिए UTR नंबर्स पता करें:

ट्रांजैक्शन करने पर अगर आपके बैंक से एसएमएस ईमेल के जरिए जानकारी आती है, तो ट्रांजैक्शन मैसेज में आपको UTR नंबर भी दिया जाता है ट्रांजैक्शन स्टेटस चेक करने के लिए. 

5. मोबाइल पेमेंट एप्स या यूपीआई एप से UTR नंबर पता करें:

  • किसी भी मोबाइल पेमेंट एप में UTR नंबर पता करने के लिए ऐप ओपन करें. 
  • उस ऐप के ट्रांजैक्शन हिस्ट्री या अकाउंट स्टेटमेंट के जरिए UTR नंबर/ट्रांजैक्शन आईडी जान सकते हैं.

फोनपे UTR नंबर कैसे पता करें?

  • फोनपे ऐप में UTR नंबर पता करने के लिए ऐप ओपन करें और हिस्ट्री पर क्लिक करें.
  • अब जिस पेमेंट का UTR नंबर जानना चाहते हैं, उसे सेलेक्ट करें.
  • अब आपको यहां पर 12-डिजि UTR नंबर ‘डिटेल सेक्शन’ में दिखेगा.
  • इस UTR नंबर को आप यहां से कॉपी भी कर सकते हैं.

गूगल पे से ट्रांजैक्शन आईडी कैसे पता करें?

  • गूगल पे पर UTR नंबर चेक करने के लिए गूगल पर ऐप ओपन करें.
  • थोड़ा नीचे स्क्रॉल करने पर आपको ट्रांजैक्शन हिस्ट्री का ऑप्शन मिलेगा. 
  • अब जो ट्रांजैक्शन सेलेक्ट करना उसे सेलेक्ट करें उसकी डिटेल में आपको यूपीआई ट्रांजैक्शन आईडी और गूगल ट्रांजैक्शन आईडी दिख जाएगी.

पेटीएम से UTR नंबर कैसे पता करें?

  • पेटीएम से यूपीआई रेफरेंस नंबर पता करने के लिए ऐप ओपन करें.
  • बैलेंस और हिस्ट्री के ऑप्शन पर क्लिक करें.
  • ट्रांजैक्शन को सेलेक्ट करें उसके अंदर आपको 12 डिजिट यूपीआई रेफरेंस नंबर मिल जाएगा.

एसबीआई ट्रांजैक्शन को UTR नंबर से कैसे ट्रैक करें? 

  • सबसे पहले एसबीआई के अकाउंट स्टेटमेंट ओपन करें.
  • यहां पर आपको तारीख के साथ ट्रांजैक्शन हिस्ट्री मिल जाएगी.
  • अब आपको किसी एक ट्रांजैक्शन की ट्रांजैक्शन आईडी जानी है, तो आपको उस पर क्लिक करना होगा.
  • अब ट्रांजैक्शन से जुड़ी सारी जानकारी आपके सामने होगी यहां पर आपको ट्रांजैक्शन से जुड़ी ट्रांजैक्शन आईडी मिलेगी, जो कि आपका UTR नंबर होगा.
  • इस UTR नंबर से आप अपने ट्रांजैक्शन स्टेटस को ट्रैक कर सकते हैं.

आरटीजीएस ट्रांजैक्शन का UTR नंबर कैसे आईडेंटिफाई करें?

आरटीजीएस यानी रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्टम में ‘इमीडिएट फंड ट्रांसफर’ होता है. जब आप आरटीजीएस के द्वारा फंड ट्रांसफर करते हैं तो 2 घंटे के अंदर बैंक में पैसे डिपाजिट होते हैं, लेकिन आरटीजीएस सिस्टम का इस्तेमाल करने के लिए पैसे कम से कम 2 लाख से ज्यादा होने चाहिए, इससे कम की राशि आप दूसरे मेथड से भेज सकते हैं.

जब आप आरटीजीएस के द्वारा फंड ट्रांसफर करते हैं तो बैंक के द्वारा UTR नंबर जनरेट किया जाता है, इसको देखने के लिए आप अपने बैंक अकाउंट स्टेटमेंट में जाए, ट्रांजैक्शन सेलेक्ट करें वहां पर आपको UTR नंबर मिल जाएगा, फिर चाहे आपका अकाउंट किसी भी बैंक में हो एसबीआई, एचडीएफसी, एक्सिस, आईसीसी, आदि.

नेफ्ट ट्रांजैक्शन का UTR नंबर कैसे पता करें?

नेफ्ट ट्रांजैक्शन में UTR नंबर 16 कैरेक्टर्स का होता है. अगर आपकी नेक्स्ट ट्रांजैक्शन डिले हो जाती है तो आप UTR नंबर के जरिए ट्रांजैक्शन का स्टेटस चेक कर सकते हैं. अकाउंट में पैसे नहीं रिसीव होते हैं तो आप बैंक से कांटेक्ट करके ट्रांजैक्शन को ट्रैक करने की रिक्वेस्ट कर सकते हैं, UTR नंबर का इस्तेमाल करके वह पता लगा सकते है. नेक्स्ट ट्रांजैक्शन करने पर आपके बैंक अकाउंट स्टेटमेंट में UTR नंबर दिख जाएगा.

ट्रांजैक्शन स्टेटस को ट्रैक करने के लिए UTR नंबर का इस्तेमाल कैसे करें?

UTR नंबर के जरिए ट्रांजैक्शन स्टेटस चेक करने के दो रास्ते हैं:

● अगर आपके बैंक मोबाइल एप या इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा ट्रांजैक्शन स्टेटस चेक किया जा सकता है तो आप इनका इस्तेमाल कर सकते हैं.

● अपने बैंक के कस्टमर केयर पर कॉल करके अपनी ट्रांजैक्शन स्टेटस ट्रैक करने की रिक्वेस्ट कर सकते हैं. तब बैंक कर्मचारी आपसे UTR नंबर मांगते हैं. इस UTR नंबर से ट्रांजैक्शन स्टेटस ट्रैक कर सकते हैं. अगर आपका ट्रांजैक्शन डिले हो गया है तो आप अपने बैंक ब्रांच से कांटेक्ट करें.

पासबुक से UTR नंबर कैसे पता करें?

हर बैंक के पासबुक में ट्रांजैक्शन पेज पर, हर ट्रांजैक्शन के लिए ट्रांजैक्शन आईडी प्रिंटेड होती है. 

आइएमपीएस और यूपीआई का UTR नंबर कैसे पता करें?

यूपीआई ट्रांजैक्शन में UTR नंबर की जगह ‘यूपीआई ट्रांजैक्शन आईडी’ जनरेट होती है. यूपीआई ट्रांजैक्शन आईडी जानने के लिए आप अपने यूपीआई ऐप में जाकर ‘हिस्ट्री सेक्शन’ में ट्रांजैक्शन सेलेक्ट करके यूपीआई ट्रांजैक्शन आईडी जान सकते हैं.

आइएमपीएस यानी ‘इमीडिएट पेमेंट सर्विस’, जब आप आइएमपीएस ट्रांजैक्शन करते हैं तो बैंक आपके स्क्रीन पर 12 डिजिट नंबर डिस्प्ले करता है. इसी को आइएमपीएस रेफरेंस नंबर कहते हैं जो की UTR नंबर की जगह इस्तेमाल किया जाता है.

FAQ

UTR नंबर कैसे पता करें?

UTR नंबर पता करने के लिए आपको अपने पेमेंट ऐप, इंटरनेट बैंकिंग में ट्रांजैक्शन को सेलेक्ट करना चाहिए, यहां पर आपको ट्रांजैक्शन आईडी मिल जाएगी.

UTR का मतलब क्या है?

UTR का मतलब होता है ‘यूनिक ट्रांजैक्शन रेफरेंस. भारत में हर ट्रांजैक्शन के लिए बैंक द्वारा एक यूनिक रेफरेंस नंबर जनरेट किया जाता है इसी को UTR नंबर कहते हैं.

UTR नंबर किस लिए काम आता है?

अगर आपका ट्रांजैक्शन डिले (delay) हो जाता है या कोई प्रॉब्लम आ जाती है, तो प्रॉब्लम को सॉल्व करने के लिए आप बैंक से कांटेक्ट करके UTR नंबर उन्हें देकर ट्रांजैक्शन स्टेटस ट्रैक कर सकते हैं.

UTR का फुल फॉर्म क्या है? 

यूनिक ट्रांजैक्शन रिफरेन्स.

क्या UTR नंबर 16 डिजिट का होता है? 

UTR नंबर 16 से 22 कैरेक्टर्स लंबा हो सकता है, आपका बैंक किस नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहा है पैसे भेजने के लिए यह उस पर डिपेंड है. 

क्या इंटरनेशनल ट्रांजैक्शंस के लिए UTR नंबर जरूरी है?

पैसे देश के बाहर भेजें या देश के किसी भी दूसरे बैंक में ट्रांसफर करें आपको एक यूनिक UTR नंबर मिलता है.

क्या UTR नंबर ट्रैक करने पर कोई फीस देनी पड़ती है? 

नहीं. UTR से ट्रांजैक्शन ट्रैक करने के लिए बैंक आपसे कोई फीस चार्ज नहीं करता.

Rate this post

Leave a Comment