10 Steps शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं । Share Market me paisa kaise lagaye

शेयर मार्केट में पैसे कमाने के लिए आपको शेयर मार्केट में पैसा लगाना आना चाहिए, हम आपको स्टेप बाय स्टेप शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाते है बताने वाले है.

Share Market kya hai

शेयर मार्केट या स्टॉक मार्केट उस जगह को बोलते है जहा से investors शेयर मार्केट में लिस्टेड कंपनी के शेयर को खरीदते और बेचते है. कंपनी के जितने हिस्से के आप मालिक होते है उन्हें shares कहा जाता है. भारत मे दो बड़े स्टॉक एक्सचेंज है ‘Bombay Stock Exchange’ (BSE) और ‘National Stock Exchange’ (NSE). भारत में शेयर मार्केट को SEBI ‘Stock Exchange Board of India’ रेगुलेट करती है, शेयर मार्केट से लोग Companies मे निवेश करसकते है.

शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाए?

शेयर मार्केट से लोग अलग अलग तरह से पैसे कमाते है जैसे:

1. कैपिटल gains के ज़रिये पैसे कमा सकते है, कैपिटल गेन यानि हम जब इन्वेस्टमेंट करते है और जब हमें प्रॉफिट होता है उसे कहते है.

2. डिविडेंड के ज़रिये शेयर मार्केट मे पैसे कमा सकते है, डिविडेंड यानि कंपनी अपने प्रॉफिट का कुछ हिस्सा शेयर होल्डर्स को देगी तो उसे डिविडेंड कहते है.

3. इसके अलावा SIP, IPO और इंट्राडे ट्रेडिंग करके शेयर मार्किट से पैसा कमा सकते है, डिटेल में जानने के लिए इस लेख को पढ़े शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाए.

10 स्टेप्स शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं । Share Market me Paisa Kaise Lagaye

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं (how to invest in share market in hindi)

1. अपने आप को Educate करें.

स्टॉक मार्केट और इन्वेस्टमेंट से जुडी सारी बेसिक और ज़रूरी जानकारी जानले, किताबें पढ़कर, ऑनलाइन कोर्सेज जोइन करके, Youtube videos, ऑनलाइन ब्लॉग पढ़कर जान सकते है. खुदको शिक्षित करने से आप एक अच्चा फेसला ले सकते है, इससे आपको अपने इन्वेस्टमेंट पर मिलने वाले रिटर्न और risks के बारेमे अनुमान लगा सकते है.

2. इन्वेस्टमेंट लक्ष्य तय करे.

शेयर मार्केट मे इन्वेस्ट क्यूँ करना चाहते है इसे तय करें, अपने फाइनेंसियल goals क्लियर रखने होंगे. शेयर मार्केट मे इन्वेस्ट करने से पहले अपने लक्ष्य सेट करे, Goals जैसे लॉन्ग-टर्म मे अपनि संपत्ति को बढ़ाना या dividends के ज़रिये इनकम बनाना, अगर आपको goals पता होंगे तो आपको किस तरह के इन्वेस्टमेंट करना है ये जानने मे मदद मिलेगी.

3. अपने लिए बेस्ट ब्रोकर चुने.

अपने ज़रूरतों और goals को ध्यान मे रखकर बेस्ट ब्रोकर चुनना ज़रूरी है, ब्रोकर कि मदद से आप डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट खोल सकते है, शेयर मार्किट और इन्वेस्टर के बीच मे ब्रोकर होता है. ब्रोकर आपको शेयर खरीदने और बेचने के लिए ऑनलाइन प्लेटफार्म देता है.

भारत मे बहुत सारे ब्रोकर हैं उनमे से कुछ पोपुलर ब्रोकर है जैसे ज़ेरोधा, ICICI Securities, Upstox, शेयरखान, ग्रो, एंजेल ब्रोकिंग, HDFC Securities, एक्सिस डायरेक्ट, 5Paisa, आदि. ऐसे ब्रोकर को चुने जिसकी reputation अच्छी हो, जिसकी फीस कम हो और जो इस्तेमाल करने मे आसान हो.

4. डीमैट अकाउंट ओपन करें.

शेयर मार्केट मे इन्वेस्ट करने के लिए डीमैट अकाउंट खोलना होगा, डीमैट अकाउंट को किसी ब्रोकर या DP ‘Depository Participant’ से खोल सकते है. डीमैट अकाउंट आपके खरीदे हुए shares को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म मे होल्ड करके रखता है. आजकल कोई एक संस्था DP और ब्रोकर दोनों का काम कर सकती है.

डीमैट अकाउंट खोलने के लिए आपके पास कम से कम PAN कार्ड, आधार कार्ड, बैंक अकाउंट होना चाहिए इसके अलावा अकाउंट खोलते समय आपको अपनी पर्सनल जानकारी भी देनी होगी जैसे नाम, डेट ऑफ़ बिर्थ, signature, सेल्फि, आदि.

AD

Unlock the power of smart investing! Open a free Upstox Demat Account today.

Open an Account

5. खुदसे अच्छी रिसर्च करे.

डीमैट अकाउंट क्या है (What is demat account in hindi)

जिस कंपनी मे इन्वेस्ट करना चाहते है उनकि रिसर्च करें, ये इन्वेस्टमेंट प्रोसेस का एहम हिस्सा है. ऐसे कंपनीस को ढूंढे जिनका ट्रैक रिकॉर्ड अच्चा हो, बिज़नस मॉडल अच्चा हो, मैनेजमेंट टीम अच्छी हो, इसके अलावा फाइनेंसियल परफॉरमेंस और ग्रोथ को देखें.

रिसर्च करने से ही आपको पता चलेगा की किस कंपनी के शेयर में इन्वेस्ट करना चाहिए और किस में नहीं. कौनसे शेयर आगे जाकर मुझे फायदा पंहुचा सकते है और कौनसे शेयर आगे जाकर नुक्सान करवाएंगे ये आप रिसर्च करके ही प्रेडिक्ट कर सकते है.

6. छोटे इन्वेस्टमेंट अमाउंट से शुरू करे.

एक बिगिनर के लिए छोटे अमाउंट से शुरू करना सहीं होगा, इस तरह से आप टाइम देकर अपने पोर्टफोलियो को बना सकते है, इससे आपको अनुभव भि होगा और आपका रिस्क भि कम होगा, मार्केट ऊपर-निचे होने पर जल्दबजी मे impulsive फेसले लेने से बचे. जैसे आप मार्किट के बारेमे जानने लगेंगे, कॉंफिडेंट बड़ेगा और एक्सपीरियंस भि बड़ेगा, इस तरह छोटे से बड़े इन्वेस्टमेंट कि तरफ जा सकते है.

7. पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करे.

पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करने से शेयर मार्किट मे रिस्क कम होता है और रिटर्न को बढ़ सकते है. अपने स्टॉक को अलग-अलग सेक्टर मे डायवर्सिफाई करें, जैसे, healthcare, टेक्नोलॉजी, फाइनेंस. इसके अलावा आप अलग अलग सिक्योरिटीज मे भि इन्वेस्ट कर सकते है और अलग रीजन मे भि.  

8. प्रोफेशनल एडवाइजर से कांटेक्ट करे.

एक प्रोफेशनल एडवाइजर आपके इन्वेस्टमेंट goal के मुताबिक आपको ज़रूरी जानकारी और गाइडेंस दे सकता है. इन्वेस्टमेंट प्लान बनाने मे मदद कर सकता है, सपोर्ट और एडवाइस दे सकता है. ऐसे फाइनेंसियल एडवाइजर को चुने जिसपर आप भरोसा कर सकते और जिससे आप बात करने मे comfortable हो, उसकी qualification और ट्रैक रिकॉर्ड जानलें.

अगर आप पहली बार शेयर मार्केट में आये है तो आपको किसी मेंटर से सीखना चाहिए ये मेंटर कोई भी हो सकता है जिसे शेयर मार्केट की जानकरी हो और सहीं जानकारी हो. ये आपका दोस्त, परिवार का कोई सदस्य, टीचर, या कोई भी पहचान वाला व्यक्ति जो आपको शेयर मार्केट के बारेमे जानकारी देसके.

9. मार्केट कि कंडीशन पर नज़र रखे.

share market me paisa kaise lagaye

लगातार शेयर मार्किट को मॉनिटर करते रहे और शेयर मार्किट कि न्यूज़ और डेवलपमेंट से वाकिफ रहे ताके आप एक सहीं इन्वेस्टमेंट डिसिशन ले सके. Up-to-date रहने के लिए आप शेयर मार्किट न्यूज़ पब्लिशर को सब्सक्राइब कर सकते है, मार्केट एनालिस्ट को सोशल मीडिया पर फॉलो करसकते है और ऑनलाइन टूल का इस्तेमाल करके मार्केट ट्रेंड और स्टॉक प्राइस मूवमेंट जान सकते है.

10. रेगुलरली पोर्टफोलियो को देखे और एडजस्ट करे.

रेगुलरली पोर्टफोलियो को देखते रहने से और एडजस्टमेंट करने से इन्वेस्टमेंट लक्ष्य को पाने मे मदद मिल सक्ति है. पोर्टफोलियो को रिव्यु करने से आपको पता चलता है के कौनसी इन्वेस्टमेंट अच्चा परफॉर्म कर रही है और कौनसी नहीं, इससे आप अपने पोर्टफोलियो को रिबालंस करसकते है, इससे आपको खरीदने, बेचने और होल्ड करने मे मदद मिलेगी.

कुछ समय के मार्केट fluctuations कि वजह से पैनिक नहीं होना है. स्टॉक प्राइस शोर्ट-टर्म के लिए ऊपर-निचे हो सकते है, लेकिन लॉन्ग-टर्म और diversified पोर्टफोलियो मे फायदा होसकता है. ये ज़रूरी है के आप कुछ समय के मार्किट ऊपर-निचे होने पर impulsive डिसिशन लेने से बचे और लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टमेंट के बारेमे विचार करें. टॉप ब्रोकर जैसे Upstox, से फ्री मे डीमैट अकाउंट खोलने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

AD

Unlock the power of smart investing! Open a free Upstox Demat Account today.

Open an Account

डीमैट अकाउंट खोलने के लिए ज़रूरी दस्तावेज़

शेयर मार्किट में पैसे कैसे लगाएं इसके लिए डीमैट अकाउंट खोलना ज़रूरी है और डीमैट अकाउंट के लिए इन दस्तावेजों का: Pan Card, आधार कार्ड और बैंक अकाउंट कि जानकारी.

शेयर कि कीमत कम और जियादा क्यूँ होती है

अगर शेयर्स कि डिमांड बढती है तो प्राइस बड़ेगा और डिमांड कम होगी तो प्राइस कम होगा. अगर डिमांड जियादा है और सप्लाई कम है तो भि प्राइस बड़ेगा इसी तरहा डिमांड कम और सप्लाई जियादा होगी तो प्राइस घट जाएगी.

इसलिए हमेशा ऐसे कंपनी या सेक्टर मे इन्वेस्ट करें जिसकी डिमांड आगे फ्यूचर मे बढ़ सकती है. कोई भि कंपनी का शेयर प्राइस हमेशा एक जैसा नहीं रहता कम-जियादा होते रहता है कियोंकि कम्पनीज कभी प्रॉफिट मे होती है और कभी लोस मे.

इसके अलवा भी बहुत सारे दुसरे कारण होते है जिनकी वजह से आपके इन्वेस्ट किये हुए कंपनी के शेयर प्राइस निचे जाते है.

जब कोई कंपनी प्रॉफिट मे होती है तो लोग शेयर खरीदने लगते है, डिमांड बढ़ने कि वजह से शेयर्स का प्राइस बढ़ता है फिर अगर कंपनी को नुकसान होता है तो लोग जल्दी जल्दी शेयर बेचने लगते है ताके उनका और नुकसान नाहो, अब डिमांड कम और सप्लाई जियादा होने कि वजह से शेयर का प्राइस भि कम हो जाता है. शेयर्स खरीदने से पहले हमेशा कंपनी कि अच्छे से रिसर्च करें.

शेयर कब खरीदना चाहिए?

कभी भि शेयर को खरीदने से पहले कम से कम इन बातों का ध्यान रखे:

  • कंपनी मे इन्वेस्ट करने से पहले कंपनी के बारेमे रिसर्च करें.
  • ऐसी कम्पनीज को चुने जिनके फंडामेंटल्स स्ट्रोंग हो.
  • एसेट और Liabilities को अच्छे से देखें कंपनी मे इन्वेस्ट करने से पहले.
  • बैलेंस शीत और कैश फ्लो स्टेटमेंट पर ध्यान दे.
  • कंपनी के पिछले सालों कि प्रॉफिट और लोस के बारेमे जानलें. आदि.

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए?

1. कंपनी रिसर्च करे: कंपनी के शेयर खरीदने से पहले कंपनी कि हिस्ट्री, ट्रैक रिकॉर्ड और परफॉरमेंस के बारेमे रिसर्च करें जिससे कंपनी के फ्यूचर का अनुमान लगा सकते है.

2. लॉन्ग-टर्म के लिए इन्वेस्ट करें: स्टॉक मार्केट लॉन्ग-टर्म मे अच्चा रिटर्न देने कि क्षमता रखता है, जल्द बाजी मे मार्केट के प्राइस ऊपर निचे होने पर स्टॉक ना बेचे.

3. अपने पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करे: ताके आपका इन्वेस्टमेंट रिस्क कम हो सके, अपने इन्वेस्टमेंट को स्टॉक, बोंड्स मे मिक्स करने कि कोशिश करें. सारा इन्वेस्टमेंट एक कंपनी में ना करें..

4. इमोशनल होकर निवेश बिलकुल ना करे: डर और लालच कि वजह से जल्द बजी मे इन्वेस्टमेंट ना करें, रिसर्च करें और facts पर ध्यान दें.

5. रिस्क को जाने और खुदको informed रखे: अपने हर इन्वेस्टमेंट के रिस्क को जाने और मार्केट ट्रेंड और इकनोमिक कि सारि जानकारी रखे, जिन कम्पनीज मे इन्वेस्ट किया है उनकी न्यूज़ और अनाउंसमेंट पर नज़र रखे.

6. इन्वेस्टमेंट फीस पर हमेशा नज़र रखे ऐसा ना होके आपके रिटर्न से जियादा फीस/चार्जेज हो जायें, फाइनेंसियल एडवाइजर से टैक्स कि सारि जानकारी जाने.

Share Market Tips in Hindi

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं (share market me paisa kaise lagaye)

1. इन्वेस्टमेंट जल्दी शुरू करे: इन्वेस्टमेंट शुरू करना चाहते है तो अपनी ज़िन्दगी मे जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी शुरू करनी चाहिए, ताके कोम्पौन्डिंग और ग्रोथ का फायदा मिल सके.

2. अपने आप को शिक्षित करे: शेयर मार्केट, स्टॉक्स, रेगुलेशन, नियम, इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटेजी, टेक्निकल एनालिसिस, कंपनी फंडामेंटल्स आदि को जाने, वक़्त निकालकर शेयर मार्केट को सीखें.

3. पोर्टफोलियो डायवर्सिफाई करे: रिस्क को कम करने के लिए डायवर्सिफिकेशन करसकते है यानि अपने इन्वेस्टमेंट को सिर्फ एक हि जगह इन्वेस्ट ना करे बलके अलग अलग कम्पनीज में इन्वेस्टमेंट करे.

4. सब्र और disciplined रखे: जल्द बजी मे impulsive फेसले लेने से बचे और इमोशनल डिसिशन से भि बचे, अपने प्लान या स्ट्रेटेजी को फॉलो करते रहे.

5. फाइनेंसियल एडवाइजर के साथ काम करे: अगर आप फाइनेंसियल एडवाइजर के साथ काम करते है तो आपको प्रैक्टिकल नॉलेज मिलता है और अच्छे इन्वेस्टमेंट फैसले लेने मे गाइडेंस भि लेसकते है. एक अच्चा एडवाइजर आपके रिस्क टॉलरेंस और goals के हिसाब से इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटेजी बनाने मे मदद करता है.

अक्सर पूछे जानें वाले सवाल

1. शेयर मार्केट मे इन्वेस्ट करने के लिए क्या ज़रूरी है?

शेयर मार्केट मे इन्वेस्ट करने के लिए, आपको किसी अच्छे ब्रोकर से डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलने कि ज़रूरत है, अकाउंट खोलने के लिए आपको KYC करने कि ज़रूरत होगी. इन्वेस्टमेंट शुरू करने के लिए आपको शेयर मार्केट और इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटेजीज कि बेसिक नॉलेज और समज होनी चाहिए.

2. शेयर मार्केट मे पहली बार कितना इन्वेस्ट करना चाहिए?

पहली बार कितना इन्वेस्ट करना चहिये ये आपके स्तिथि पर डिपेंड है, आपके लक्ष्य और रिस्क टॉलरेंस पर डिपेंड है. पहली बार इन्वेस्टमेंट कररहे है तो आपको कम से कम अमाउंट, इन्वेस्ट करना चाहिए. ये सुझाव दिया जाता है के आपको उतना इन्वेस्ट करना चहिये जिसके खोने पर आप बर्दाश करसकते है और अपने इन्वेस्टमेंट को डायवर्सिफाई करना चाहिए. अपने सेविंग के 5% से 10% को इन्वेस्ट करसकते है.

3. शेयर मार्किट मे इन्वेस्ट क्यूँ करें क्या फायदे है?

शेयर मार्किट मे इन्वेस्ट करने के बहुत सारे फायदे है जैसे: Investment कि long-term मे ग्रोथ होना. dividend इनकम भि मिलती है, इसके अलावा आप अयसे कंपनीस के शेयर मे इन्वेस्ट करसकते है, जिनपर आपको भरोसा है के वह आगे जाकर इकॉनमी कि growth करेंगे.

4. आपको शेयर कब खरीदना चाहिए?

आपको शेयर कब खरीदना चाहिए ये कहना बहुत मुश्किल है इसका कोई परफेक्ट जवाब नहीं हो सकता. कुछ इन्वेस्टर long-term स्ट्रेटेजी को अपनाते है और लगातार इन्वेस्ट करते रहते है फिर चाहे मार्किट कि कंडीशन जैसी भि,

लेकिन कुछ इन्वेस्टर अवसरों का इंतज़ार करते है, इसके लिए आपको खुद रिसर्च करना होगा, मार्किट ट्रेंड पर नज़र रखनी होगी और ज़रूरत पढने पर प्रोफेशनल एडवाइस भि ले सकते है. इमोशनल डिसिशन लेने से बचे और अपने इन्वेस्टमेंट goals और risk मैनेजमेंट को समझे, आपको एक्सपीरियंस होने पर इन्वेस्ट करने आप का खुद एक बेस्ट तरीका खोज सकते है.

5. शेयर से लाभ कैसे होता है?

शेयर मे इन्वेस्ट करने से कंपनी कि वैल्यू बढेगी तो शेयर कि वैल्यू भि बढेगी इससे आपको अच्चा रिटर्न मिल्सकता है, कंपनीस शेयर होल्डर्स को डिविडेंड भि देती है ये एक रेगुलर earning कि तरहा काम करता है, शेयर खरीदने से आपको कंपनी मे ownership मिलती है.

6. मैं शेयर से जुडी जानकारी कहा से प्राप्त करसकता हूँ?

शेयर कि जानकारी जानने के लिए बहुत सरे रास्ते है जैसे:
1. कंपनी कि वेबसाइट.
2. स्टॉक एक्सचेंज वेबसाइट मे शेयर कि बहुत सारि जानकारी होती है.
3. फाइनेंसियल न्यूज़ वेबसाइट के ज़रिये.
4. एनुअल reports जो कंपनी निकलती है.

निष्कर्ष

Step-by-Step शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं Share Market me Invest kaise kare

शेयर मार्केट मे निवेश करना एक स्मार्ट और फायदेमंद डिसिशन हो सकता है लेकिन आपको इसके सावधानियों और मार्केट को समजना ज़रूरी है. रिसर्च करना, मज़बूत फंडामेंटल कंपनी में इन्वेस्ट करना, मार्केट को सीखकर इन्वेस्ट करने से सफलता के चांसेस बड़ते है. ये बाद हमेशा याद रखे कि इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न मिलेगा ये गारंटी नहीं होती है, हमेशा risk होता हि है. इसलिए आप एक बिगिनर है तो बहुत सारे चीज़े जाने सीखें, फिर इन्वेस्टमेंट शुरू करे.

ये भि पढ़े:

4.3/5 - (28 votes)

2 thoughts on “10 Steps शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं । Share Market me paisa kaise lagaye”

Leave a Comment